What Is Electric Circuit in Hindi || || विद्युत् परिपथ क्या है ? || what does an electric circuit mean

जब battery, सेल या जनरेटर से POSSITIVE CHARGE तार से निकलकर NAGETIVE तार केसे से उसी स्थान पर वापस आ जाता है, तो इसे ELECTRIC CIRCUIT कहा जाता है। इसका उदाहरण हमारे घर में use होने वाले सभी device जैसे ही हम बटन दबाते हैं, सेल के POSSITIVE TERMINAL से CURRENT SWITCH के माध्यम से बल्ब में जाता है और NAGETIVE TERMINAL से सेल में वापस आता है, तो यह एक पूर्ण विद्युत परिपथ है। इस पोस्ट में हम ELECTRIC CIRCUIT के बारे में समझेंगे|

किसी भी COMPLETE ELECTRIC CIRCUIT में कुछ भाग होते हैं जो उस CIRCUIT के लिए बहुत जरुरी होते हैं। इनके बिना एक ELECTRIC CIRCUIT अधूरा है, इसलिए उन्हें आपको नीचे बताया गया है।

एक COMPLETE ELECTRIC CIRCUIT के महत्वपूर्ण भाग

what does an electric circuit mean

components of electric circuit

1.POWER SOURCE

किसी CIRCUIT में CURRENT भेजने के लिए ELECTROMOTIVE FORCE की जरूरत होती है, जिसे हम EMF या वोल्टेज कहते हैं। किसी भी CIRCUIT को शुरू करने के लिए, हमें POWER SOURCE की आवश्यकता होती है, चाहे वह BATTERY के रूप में हो या GENRATOR जनरेटर के रूप में हो ।

SWITCH

DIVICE को ON या OFF करने के लिए हमें एक SWITCH की आवश्यकता होती है।

Fuse :-

Fuse का प्रयोग किसी भी DEVICE में उस DEVICE की और हमारी SAFTY को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यदि DEVICE में किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो FUSE उस DEVICE के ELECTRIC CIRCUIT को OFF कर देता है जिससे उस DEVICE को कोई खतरा नहीं होता और उस DEVICE का उपयोग करने वाले व्यक्ति को भी किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है।

LOAD


ELECTRIC CIRCUIT में किसी भी DEVICE जोड़ना LOAD कहलाता हैं, जैसे कि हमारे घर में इस्तेमाल होने वाला बल्ब, पंखा, फ्रिज आदि।

WIRE :-

ELECTRIC CIRCUIT को पूरा करने के लिए हमें सभी DEVICE को आपस में जोड़ने की जरूरत होती है, इसके लिए हम WIRE का USE करते हैं।

इलेक्ट्रिक सर्किट के प्रकार –(TYPE OF ELECTRIC CIRCUIT)

ELECTRIC CIRCUIT मुख्यतः चार प्रकार के होते हैं, जिनके बारे में आपको नीचे विस्तार से बताया गया है।

  1. CLOSED CIRCUIT

: जब किसी CIRCUIT में CURRENT सुचारू रूप से और सुरक्षित रूप से MOVE करता है और वह DEVICE ठीक से काम करता है, तो हम इसे CLOSED CIRCUIT OR COMPLETE CIRCUIT कहते हैं।

Closed circuit
  1. OPEN CIRCUIT :

जब CIRCUIT WIRE टूट जाता है या FUSE उड़ जाता है जिससे वह ELECTRIC CIRCUIT काम नहीं करेगा जिसे हम OPEN CIRCUIT कहते हैं क्योंकि जो यह CIRCUIT CPMPLETE नहीं है और ELECTRICITY आपूर्ति उपकरण तक नहीं पहुंच पाएगी जिसके कारण वह उपकरण काम नहीं करता है।

Open circuit

SHORT CIRCUIT

जब किसी CIRCUIT के PHASE WIRE और NEUTRAL WIRE को बिना LOAD के जोड़ा जाता है, तो उसमें बहुत अधिक CURRENT FLLOW होता है| जिससे CIRCUIT में FUSE जल जाता है और WIRE का INSULATION भी जल जाता है। इसे SHORT CIRCUIT कहते हैं।

Short circuit

इसका सबसे बड़ा कारण किसी भी WIRE का INSULATION खराब होना है क्योंकि बहुत बार किसी WIRE का INSULATION जल्दी खराब हो जाता है जिससे दोनों तार आपस में मिल जाते हैं और SHORT CIRCUIT हो जाता है।

Leakage Circuit

जब किसी ELECTRIC CIRCUIT का PHASE WIRE किसी दीवार या किसी अन्य उपकरण या CONDUCTING OBJECT को छूता है, तो PHASE WIRE में बहने वाली CURRENT उस CONDUCTOR या DEVICE में भी बहने लगती है। इस प्रकार के CIRCUIT को LEAKAGE CIRCUIT कहा जाता है। कोई भी DEVICE जिसमें LEAKAGE CURRENT होता है, वह उपकरण ठीक से काम नहीं करता है।